Advertisements

आखिर क्यों नही मिला रेखा को उनका सच्चा प्यार

सदाबहार अभिनेत्री रेखा 62 साल की हो गई हैं. उनका जन्म 10 अक्टूबर 1954 में चेन्नई में हुआ था. चाहे सुपरस्टार अमिताभ बच्चने से कथित रिश्ता हो, मांग में सिंदूर हो या शादीशुदा ज़िंदगी, रेखा किसी रहस्य से कम नहीं लगतीं. रेखा की खूबसूरती आज भी दूसरी अभिनेत्रियों के चेहरे की चमक को फीका कर देती हैं. जन्मदिन के मौके पर आइए जानते  हैं रेखा के ज़िन्दगी से जुडी कुछ खास बातेआखिर क्यों लगाती है रेखा सिदूर
कहा जाता है कि रेखा की पहली शादी विनोद मेहरा से हुई थी, हालांकि एक इंटरव्यू में उन्होंने इस बात को अफवाह करार दिया था. साल 1990 में उन्होंने दिल्ली के उद्योगपति मुकेश अग्रवाल से शादी की थी, हालांकि यह शादी ज्यादा दिन नहीं टिकी और दोनों का तलाक हो गया. बाद में मुकेश अग्रवाल ने आत्महत्या कर ली थी. लेकिन रेखा आज भी सिंदूर लगाती हैं. अपनी शादी से पहले ऋषि कपूर और नीतू सिंह की शादी में वह सिंदूर लगाकर पहुंची थीं. बाद में साल 2008 में एक अवॉर्ड समारोह में भी वह सिंदूर लगाकर पहुंची थीं. वह सिंदूर क्यों लगाती हैं रेखा के सिंदूर लगाने का राज़ अभी तक कोई जान नहीं पाया |
अमिताभ से रेखा का रिश्ता
रेखा की ज़िंदगी में नवीन निश्चल, जितेंद्र, विनोद मेहरा, विश्वजीत और शत्रुघ्न सिन्हा जैसे अभिनेता आए जिनसे उनके अफेयर चर्चा में रहे. वही  सुपरस्टार अमिताभ बच्चन से उनका रिश्ता सबसे ज्यादा चर्चित हुआ. हालांकि दोनों ने कभी भी इस बारे में खुलकर बात नहीं की. आखिर दोनों के बिच क्या रिश्ता था यह आज भी एक रहस्य है. मीडिया की मानें तो रेखा आज भी अमिताभ के नाम का सिंदूर लगाती हैं |
कहा जाता है कि 70 के दशक में रेखा और अमिताभ को प्यार हुआ. इस बात को रेखा ने सार्वजनिक तौर पर स्वीकार किया है कि एक सांवली अभिनेत्री से ग्लैमरस दीवा बनने के उनके मेकओवर में अमिताभ का बहुत बड़ा योगदान है. आज भी जब किसी समारोह में दोनों होते हैं तो लोगों की नज़र उनपर ही होती है. दोनों ने आखिरी बार फिल्म ‘सिलसिला’ में साथ काम किया था. इस फिल्म में जया बच्चन भी हैं. कहा जाता है कि यह फिल्म रेखा की असल ज़िंदगी के काफी करीब है.

रेखा के कमरे का राज़
मुकेश अग्रवाल ने रेखा से शादी के सात महीने बाद ही आत्महत्या कर ली थी. इस घटना के वक्त रेखा यूएस में थीं. वह लौटीं तब तक मीडिया रिपोर्ट्स और मुकेश के परिवार के बयानों की वजह से लोग मानने लगे थे कि रेखा की वजह से ही मुकेश ने आत्महत्या की थी. इस दौरान फिल्म इंडस्ट्री ने रेखा को अलग-थलग कर दिया. रेखा को फिल्म मिलने बंद हो गई थी इसके बाद रेखा ने लोगों से मिलना-जुलना कम कर दिया. वह अपने बंगले में अकेली रहना पसंद करती थी, यहाँ तक की रेखा के बंगले पे कुछ खास लोग ही आते थे, अगर   मीडिया रिपोर्ट्स की मने तो रेखा के बेडरूम में घर के नौकरों को भी जाने की इजाज़त नहीं है. केवल उनकी सेक्रेटरी फरज़ाना, जिन्हें रेखा अपनी सोल सिस्टर मानती हैं, उनके कमरे में जा सकती हैं. फरज़ाना पिछले तीन दशकों से रेखा के साथ काम कर रही हैं |

क्यों नहीं अपनाया पिता ने रेखा को 

रेखा के पिता जेमिनी गणेशन दक्षिण भारतीय अभिनेता थे. उनकी चार शादियां हुईं लेकिन उन्होंने रेखा की मां पुष्पावल्ली को, जो उस समय तेलुगु अभिनेत्री थीं, कभी पत्नी का दर्जा नहीं दिया. इस वजह से उन्होंने रेखा को कभी नहीं अपनाया. हालांकि 1990 में जब रेखा ने मुकेश अग्रवाल से तिरुपति मंदिर में दूसरी बार शादी की तब गणेशन उन्हें आशीर्वाद देने पहुंचे थे.
सफ़र रेखा के फिल्मी जीवन का
रेखा ने 1966 में दक्षिण भारतीय फिल्म ‘रंगुला रत्नम’ से अपने अभिनय करियर की शुरुआत की. उस फिल्म में वह बाल कलाकार थी, अपने करियर में रेखा ने करीब 175 हिंदी और दक्षिण भारतीय फिल्मों में काम किया है जिनमें ‘खूबसूरत’, ‘खून भरी मांग’, ‘खून और पसीना’, ‘मुकद्दर का सिकंदर’ और ‘उमराव जान’ उनकी बेहद कामयाब फिल्में हैं. वह तीन फिल्मफेयर और एक राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीत चुकी हैं. रेखा को भारत सरकार द्वारा पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है |
 

Advertisements

Neha Mishra

Currently I am pursuing my Bachelor of Mass Communication. Also working in the AIRHIT Media Networks….

Leave a Reply

%d bloggers like this: